Solutions by Kulbhushan Swami

Please note that our all services are paid. No service is free of cost.

If you are seeking for any free service, advice, consultation about a mantra, discussion or query about the content given on others websites or in a book anywhere else which is not related to us anyway, then please do not waste our as well as your precious time in useless arguments as such queries are never entertained anyway. Read More
Responsive Ads Here

Shantikaran Mantras

Shantikaran Mantras
These mantras are used to bring peace and harmony in the family. Always remember that it is very important and necessary to have peace of mind if you want to go ahead in your life. You cannot get success with an unstable mind. Shabar Mantra astrology gives you effective solutions for your problems. Here the shabar mantras to get mental peace.
हवा आदि दोष का शाबर निवारण मन्त्र
ॐ नमो आदेश गुरु का।
काली चिड़ी चिग चिग करे।
धौला आवे वाते आवे हरे।
यति हनुमान हाँक मारे।
मथवाई और बाई जाये भगाई।
हवा हरे।
मेरी भक्ति गुरु की शक्ति।
फुरो मन्त्र ईश्वरोवाचा।
इस मंत्र को पढ़ते हुए पृथ्वी पर रेखा खींचे। यह क्रिया २१ बार करें फिर रोगी को घुटनों के बल बैठाकर इन रेखाओं के ऊपर उसके दोनों हाथ रखवा लें और पुनः ७ बार इस मंत्र से उसका झाड़ा करें। इस क्रिया को करते समय रोगी यदि वास्तव में मथवाई, बाई, हवा आदि से पीड़ित होगा तो अनजाने में ही आगे की तरफ खिसक पड़ेगा तथा वह स्वस्थ हो जाएगा।
मसान दोष निवारण शाबर मंत्र
सपेदा मसान, गुरु गोरख की आन।
मयदण्ड मसान, काल भैरों की आन।
सुकिया मसान, लोना चमारी की आन।
फुलिया मसान, गौरे भैरों की आन।
हलदिया मसान, ककोड़ा भैरों की आन।
पीलिया मसान, दिल्ली की योगिनी की आन।
कमेदिया मसान, कालिका की आन।
कीकड़िया मसान, रामचन्द्र की आन।
सिलसिलिया मसान, वीर मोहम्मदा पीर की आन।
यह दोष बच्चों को अक्सर हो जाता है। इस मंत्र का उच्चारण करते हुए झाड़ा करने से बालक का मसान दोष समाप्त हो जाता है।
किए कराए की शांति एवं इन्द्रजाल वापसी
ॐ वज्र मुष्ठि वज्र कीवाड़। वज्र बांधौ दश द्वार।
वज्र पाणि पिबेच्चाँगे। डाकिनी डापिनी रक्षोव सर्वांगे।
मन्त्र जयो शत्रु भयो। डाकिनी वायो जानु वायो।
कालि कालि शामनते। ब्रह्मा की धीशु साशु।
डाकिनी मिलि करि। मोरो जीड घात करेती।
पत्ने पानी करे। गुआ करे याने करे सुते करे।
परिहासे करे नयन कटाक्षि करे। आपो न हाते परहाते।
जियति संचारे। किलनी पोतनी। अनिन्तुषवरी करे।
एते विज्ञान अहिन न नगयो।
मोहि करेत्साराकुठितिल्स्केम सरुपद्रे।
ॐ मोसिद्धि गुरुपराय स्वीलिंग। महादेव की आज्ञा।
इस मंत्र को सात बार पढ़कर जल में फूंक मारें। शक्तिकृत जल को पीने से शत्रु के द्वारा किया गया इन्द्रजाल उसी के ऊपर वापस जा पड़ता है।
Feel free to call Guruji if you have any problem or question in your mind and around you. Contact us as following: –
Guru Kulbhushan Swami
+91-9958757955
Email: shabarmantraonline@gmail.com

No comments: